Coronavirus: बेंगलुरु में तेजी से बढ़े मरीज, सीएम येदियुरप्पा ने कहा- लॉकडाउन का सवाल ही नहीं

Read Time:2 Minute, 45 Second
Coronavirus: बेंगलुरु में तेजी से बढ़े मरीज, सीएम येदियुरप्पा ने कहा- लॉकडाउन का सवाल ही नहीं

Coronavirus: बेंगलुरु में तेजी से बढ़े मरीज, सीएम येदियुरप्पा ने कहा- लॉकडाउन का सवाल ही नहीं

बेंगलुरू में कोविड मरीजों की संख्या करीब दोगुनी होने पर भी सीएम येदियुरप्पा ने लॉकडाउन करने से इनकार किया है.

बेंगलुरु:

Bengaluru Coronavirus: पिछले एक हफ्ते के दौरान बेंगलुरू में कोरोना वायरस संक्रमित मरीज़ों की संख्या इतनी तेजी से बढ़ी कि सरकार को आनन फानन में शहर के विधायकों, सांसदों के साथ-साथ राज्य के बड़े अधिकारियों की एक बैठक बुलानी पड़ी. आने वाले दिनों में हालात और खराब हो सकते हैं. इसको ध्यान में रखते हुए नए कोविड ट्रीटमेंट सेंटर बनाए जा रहे हैं. हालांकि मुख्यमंत्री ने शहर में लॉकडाउन की संभावना से साफ इनकार किया है. उन्होंने कहा है कि लॉकडाउन का सवाल ही नहीं उठता.

यह भी पढ़ें

कोरोना संक्रमण को हुई बैठक में मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के साथ-साथ राज्य के तमाम वरिष्ठ मंत्री और अधिकारी मौजूद थे. यह बैठक इसलिए बुलानी पड़ी क्योंकि पिछले एक हफ्ते में बेंगलुरु शहर में कोरोना से संक्रमित मरीज़ों की तादाद लगभग दोगुनी हो गई है. पिछले चार दिनों में ही एक्टिव केस 919 से 1207 तक पहुंच गए और इस दौरान 11 लोगों की मौत हो गई. 

संक्रमण जितनी तेज़ी से बढ़ रहा है उतनी ही तेज़ी से संक्रमित इलाक़ों को सील किया जा रहा है. इन इलाकों की तादाद भी 500 के आसपास पहुंच चुकी है. ऐसे में सत्ताधारी बीजेपी और विपक्षी दल कांग्रेस के विधायक कह रहे हैं कि लॉकडाउन हो, लेकिन मुख्यमंत्री येद्दियुरप्पा ने इससे साफ मना कर दिया.

मरीज़ों की बढ़ती तादाद को देखते हुए निजी अस्पतालों को तैयार करने के साथ-साथ हज हाउस, पैलेस ग्राउंड, आर्ट ऑफ लिविंग और कुमार कृपा गेस्ट हाउस को ट्रीटमेंट सेंटर बनाया गया है. हाल ही में शहर में हालात तेज़ी से बिगड़े हैं. बेड, वेंटीलेटर और एम्बुलेंस की कमी सरकार की परेशानी की वजह है. इन हालात से कैसे निपटें, इसका फिलहाल सरकार के पास कोई ठोस जवाब नहीं है.

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *