सबसे बड़ा कोरोना केयर सेंटर 26 जून से होगा शुरू, ITBP को इस कारण सौंपा गया संचालन का जिम्‍मा..

Read Time:3 Minute, 41 Second
सबसे बड़ा कोरोना केयर सेंटर 26 जून से होगा शुरू, ITBP को इस कारण सौंपा गया संचालन का जिम्‍मा..

सबसे बड़ा कोरोना केयर सेंटर 26 जून से होगा शुरू, ITBP को इस कारण सौंपा गया संचालन का जिम्‍मा..

इस कोरोना केयर सेंटर की क्षमता 10,200 बेड तक बढ़ाई जा सकती है

नई दिल्‍ली:

Covid-19 Pandemic: कोरोना वायरस (Coronavirus) की महामारी के बीच भारत ही नहीं दुनिया का सबसे का सबसे बड़ा कोविड-19 अस्‍पताल (Biggest Covid centre) जल्‍द ही नई दिल्‍ली के छतरपुर स्थित राधास्वामी व्यास (Radha Soami Satsang Beas complex in Chattarpur) में जल्‍द ही शुरू होने जा रहा है. भारत-तिब्‍बत सीमा पुलिस (ITBP) की टीम ने राधास्वामी व्यास में 10,000 से भी ज्यादा बिस्तरों वाले प्रस्तावित कोविड केयर सेंटर संचालन की नोडल एजेंसी के तौर पर कार्यभार संभाल लिया है. आईटीबीपी के अनुभवी डॉक्टरों और प्रशासकों की टीम ने आज सुबह राधा स्वामी ब्यास छतरपुर, नई दिल्ली के इस केंद्र में आकर तैयारियां युद्ध स्तर पर प्रारंभ कर दी हैं. 

यह भी पढ़ें

आईटीबीपी की टीमों ने दिल्ली सरकार और जिला प्रशासन के अधिकारियों और आश्रम के विभिन्न अधिकारियों के साथ लगातार बैठकें कीं. दिल्ली जल बोर्ड और विद्युत विभाग के भी अधिकारियों के साथ साउथ दिल्ली म्युनिसिपल कॉरपोरेशन के स्टाफ भी बैठक में मौजूद रहा.फिलहाल 26 जून से लगभग 2000 बेड की क्षमता वाला सेंटर प्रारंभ कर दिया जाएगा तथा धीरे-धीरे इसकी संख्या में कोविड मरीजों के अनुसार वृद्धि संभव है. इसकी अधिकतम क्षमता 10,200 बेड तक की जा सकती है. यह अब तक का सबसे बड़ा सेंटर होगा जिसमें लगभग 1,000 से भी ज्यादा चिकित्सकों के शामिल होने की संभावना है. 

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) को विशेष तौर पर इसके संचालन का जिम्मा देने के पीछे खास कारण यह है कि आईटीबीपी ने कोरोना के संक्रमण प्रारंभ होने से लेकर अब तक प्रत्येक स्तर पर क्वारंटाइन केंद्र और कोरोना से संबंधित मरीजों के इलाज में शुरू के दौर में अग्रणी भूमिका निभाई थी और इसके पास अब कोरोना संक्रमण के विरुद्ध चल रही कार्रवाई में विशेष अनुभव हासिल है. यही कारण है कि आईटीबीपी को गृह मंत्रालय ने इस विशेष कार्य के लिए नामित किया है. इस कार्य में आईटीबीपी को दिल्ली के संबंधित जिला प्रशासन के अलावा सभी केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टाफ आदि की भी सहायता मिलेगी. यह विशालकाय कोविड केयर सेंटर बहुत बड़े इलाके में फैला हुआ है जहां प्रबंधन, सुरक्षा के साथ-साथ लगातार डॉक्टरों की टीम और अन्य प्रकार की मूलभूत आवश्यकताओं की दरकार रहेगी जिसके लिए मैराथन बैठकों और तैयारियों का दौर जारी है. 

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *